Category: History Notes

प्राचीन भारत का इतिहास या पाषाणकाल का इतिहास

प्राचीन भारत का इतिहास श्रोतों के आधार पर प्राचीन भारत का इतिहास को तीन भागों में बता गया है। प्रागैतिहासिक काल आद्यऐतिहासिक काल  ऐतिहासिक काल प्रागैतिहासिक काल :- इतिहास का वह कालखंड जिसका केवल पुरातात्विक अवशेष मिले है, लिखित नही। उस काल खंड को  प्रागैतिहासिक काल कहा जाता है। उदाहरण  के लिए पाषाणकाल यानि पत्थर का उपयोग जिस काल में होता था उसे ही प्रागैतिहासिक काल कहा जाता है। भारतीय पुरातत्व का जनक अलेक्जेंडर कनिंघम को माना जाता है। भारत में प्रागैतिहासिक काल का जनक रॉबर्ट ब्रुशफ़ुट को कहा जाता है। अगर हम विश्व स्तर की बात करें तो जगैनस...

दिल्ली सल्तनत के राजवंश, वस्तुकला, चित्रकारी एवं उल्लेखनीय कार्य

दिल्ली सल्तनत दिल्ली सल्तनत का मतलब तुर्क और पश्तून (अफगान) मूल के पांच अल्पकालिक मुस्लिम राज्यों से है। इन सभीं मुस्लिम राज्यों ने  दिल्ली के क्षेत्र में 1206 और 1526 ईस्वी के बीच शासन किया था। 16 वीं शताब्दी में, उनके अंतिम राजाके गद्धी को मुगलों ने तबाह कर दिया, जिन्होंने भारत में मुगल साम्राज्य की स्थापना की। यें पांच इसप्रकार हैं -: मामलुक राजवंश (1206-1290) खिलजी वंश (1290–1320) तुगलक वंश (1320-1414) सैय्यद राजवंश (1414-1451) अफगान लोदी राजवंश (1451-1526) दिल्ली सल्तनत के तहत वास्तुकला दिल्ली सल्तनत के शुरुआती शासकों को अक्सर मूर्ति भजन के विरोधी स्तंभों के रूप में देखा...

सिन्धु घाटी सभ्यता खोज एवं विशेषताएं, काल, नामाकरण एवं उद्भव

सिन्धु घाटी सभ्यता खोज एवं विशेषताएं, काल, नामाकरण एवं उद्भव परिचय हम सब जानते है की सिन्धु घाटी सभ्यता विश्व के प्राचीन सभ्यताओं में से एक, भारत की सबसे प्राचीन सभ्यता है। सिन्धु घाटी सभ्यता के खोज से पहले वैदिक सभ्यता को ही हम लोग सबसे प्राचीन सभ्यता के रूप में मानते थें। जिसका परिणाम स्वरुप यह हुआ की ब्रिटिश कल में इस सभ्यता की खोज की शुरुआत हुई। तब जाकर पता चला की सिन्धु घाटी सभ्यता भारत की सबसे प्राचीन सभ्यता ही नहीं विश्व की चार महत्वपूर्ण सभ्यताओं में से एक है। अगर हम इन चार सभ्यताओं की बात...

error: Content is protected !!